Monday, September 17, 2018

Mantoiyat Song Lyrics Nawazuddin Siddiqui Raftaar Manto

W3Schools
mantoiyat-song-lyrics-english-hindi-raftaar-nawazuddin-siddiqui-full-lyrics

Mantoiyat Song Lyrics English Hindi by Raftaar  - Scroll Down For Lyrical Video

Mantoiyat Song Sung By Raftaar Ft. by Nawazuddin Siddiqui From Latest Album Mantoiyat. Music Given By Raftaar And Lyrics Written By Raftaar & Saadat Hasan Manto. Mantoiyat Lyrics In English & Hindi.
Watch the lyrical video- (If video don't play watch on YouTube)

Song Information


Song Name Mantoiyat
(मंटोइयत)
Album Name Mantoiyat
Singer Name Raftaar &
Nawazuddin Siddiqui
Lyrics By Raftaar &
Saadat Hasan Manto
Music Raftaar
Music Label Zee Music Company

English Lyrics


Raftaar…

(Manto)
Sawaal Yeh Hai Ki
Jo Cheez Jaisi Hai
Usey Waise Hi Pesh
Kyu Na Kiya Jaaye

Main Toh Bus
Aapni Kahaaniyon Ko
Ek Aaina Samjata Hoon
Jisme Samaaj Apne Aapko
Dekh Sake Dekh Sake..

(Raftaar)
Aaina Na Dekhna Chahe
Samaaj Mera
Puche Mera Kal Na Dekhte
Yeh Aaj Mera
Khodate Kharodate
Yeh Meri Galatiyan
Main Bhi Chal Diya
Meri Soch Pe Hai
Raj Mera

Kaan Band, Aankhe Band
Inke Muh Pe Taale
Inpe Zor Na Ki
Satya Pe Prakash Daale
Bole Sach Jo Uske Chehre Pe
Tezaab Daale
Ghoome Phir Khule Mein
Aur Jale Jo Woh Nakaab Daale

Off Off
Off Hai, Dimag Sabka Off Hai
Zamaana Kya Kahega
Iska Hi Toh Sabko Khauff Hai
Ah Daabke Jeete Hai
Daabane Ke Yeh Aadhi Hai
S*X Nishedh Hai Toh Itni Kyu
Abaadi Hai

Log Yeh Hai Aatma Se Khokhle
Khud Kare Toh Thik Baaki..
Galat Do*ale!
Gaali De Tu Hindi Mein Toh
Bole Aisa Kyun Kiya
F**K Kyun Hai Cool
Jaane Galat Kyu Hai Ch***Ya

(Manto)
Kya Iss Tarah Ke Alfaaz Humein
Sadkon Pe Sunayi Nahi Padte
Manto Ek Insaan Hai
Mant.. Mant..
Manto Ek Insaan Hai
Manto Ek Insaan Hai
Manto Ek Insaan Hai
Mujh Par Ilzaam Hai
Mujh Par, Mujh Par
Mujh Par Ilzaam Hai
Mujh Par Ilzaam Hai
Manto Ek Insaan Hai

(Raftaar)
Jaat Mein Yeh Baatate Hai
Baat Ke Yeh Kaatate Hai
Katne Waale Khat Pe Hai
Inki Mauj Raat Mein Hai
Laal Batti Wali Gaddi
Glass Inke Hath Mein Hai
Rajneeti Mein Hai Chor
Police Inke Sath Mein
Meri Baate Tumko
Sach Nahi Lagti
Sacchi Baat Tumko Yara
Pach Nahi Sakti
Mujhse Na-Samajh Hain
Dugne Meri Age Dekh
Ek Pair Kabar Me Ye
Bhookhe Hain Dahej Ke

Betiyon Ko Maarte
Betiyan Naa Paalte
Betiyon Pe Dusro Ki
Nazare Gandi Daalte
Ladkiyan Patake Unko
Bandi Bolte Hai
Aur Jo Raazi Na Ho Unko
Saale R**Di Bolte Hain

Baap Roj Maa Pe
Thos Hath Jo Uthayega
Bezuban Bolne Se Pehle
Seekh Jaayega
Mard Tab Banega Jab Tu
Auratein Dabaayega
Soch Yeh Rahi Toh Jaldi
Desh Doob Jaayega

(Manto)
Main Us Society Ki
Choli Kya Utarunga
Jo Pehle Se Hi Nangi Hai
Usey Kapde Pehnana
Mera Kaam Nahi Hai
Main Kaali Takhti Par
Safed Chalk Istamaal
Karta Hoon
Taaki Kaali Takhti
Aur Numaya Ho Jaaye
Manto Ek Insaan

(Raftaar)
Maine Ghanto Padha Hai
Tumko Manto
Tumhare Jaisa Banu
Kare Mera Maan Toh
Inn Bando Ko
Sach Nahi Dikhta
Sattar Saal Azaadi Ke
Sach Aaj Bhi Nahi Bikta

(Manto)
Agar Aap Meri Kahaaniyon Ko
Bardasht Nahi Kar Sakte
Toh Iska Matlab Yeh Hai
Ki Is Zamaana Hi
Naqabil-E-Bardasht Hai

More Songs From Sui Dhaaga Made In India
Chaav Laaga Song Lyrics By Papon
Khatar Patar Song Lyrics By Papon
Na Chah Ke Bhi Song Lyrics Shirley Setia & Vishal Mishra
Sirf Tere Liye Song By Atif Aslam
Pal Song Lyrics By Arijit Singh Shreya Ghoshal
Tum Se Song Lyrics By Jubin Nautiyal
Naina Da Kya Kasoor Song Lyrics By Amit Trivedi
Andhadhun Title Track Lyrics By Raftaar

Hindi Lyrics


रफ़्तार...

सवाल ये है की
जो चीज जैसी है
उससे वैसे ही पेश
क्यों ना किया जाए
मैं तो बस
अपनी कहानियों को
एक आईना समझता हूँ
जिसमें समाज अपने आप को
देख सके देख सके..

(रफ़्तार)
आईना ना देखना चाहे
समाज मेरा
पूछे मेरा कल ना देखते
ये आज मेरा
खोदते खरोदते
ये मेरी गलतियाँ
मैं भी चल दिया
मेरी सोच पे है
राज मेरा

कान बंद, आँखें बंद
इनके मुंह पे ताले
इनपे जोर ना की
सत्य पे प्रकाश डालें
बोलें सच जो उसके चेहरे पे
तेजाब डालें
घूमें फिर खुले में
और जले तो वो नकाब डालें

Off Off
Off है , दिमाग सबका Off है
ज़माना क्या कहेगा
इसका ही तो सबको खौफ है
Ah! दबके जीते हैं
दबाने के ये आदि हैं
से*स   निषेध है तो इतनी क्यों
आबादी है

लोग ये हैं आत्मा से खोखले
खुद करें तो ठीक बाकी..
गलत दो*ले!
गाली दें तो हिंदी में
तो बोलें ऐसा क्यों किया
फ* क्यों है कूल
जाने गलत क्यों है चू*या

(मंटो)
क्या इस तरह के अल्फाज़ हमें
सड़कों पे सुनाई नहीं पड़ते
मंटो एक इंसान है
मंट.. मंट..
मंटो एक इंसान है
मंटो एक इंसान है
मंटो एक इंसान है
मुझ पर इल्ज़ाम है
मुझ पर, मुझ पर
मुझ पर इल्ज़ाम है
मुझ पर इल्ज़ाम है
मंटो एक इंसान है

(रफ़्तार)
जात में ये बांटेते हैं
बांट के ये काटते हैं
कटने वाले खाट पे हैं
इनकी मौज रात में है
लाल बत्ती वाली गाड़ी
ग्लास इनके हाथ में है
राजनीती में है चोर
पुलिस इनके साथ में
मेरी बात तुमको
सच नहीं लगती
सची बात तुमको यारा
पच नहीं सकती
मुझसे ना-समझ हैं
दुगुनी मेरी ऐज देख
एक पैर कब्र में ये
भूखे हैं दहेज़ के

बेटियों को मारते
बेटियां ना पालते
बेटियों पे दूसरो की
नज़ारे गन्दी डालते
लड़कियां पटके उनको
बंदी बोलते हैं और
और जो राज़ी ना हो उनको
साले र*डी बोलते हैं

बाप रोज माँ पे
ठोस हाथ जो उठाएगा
बेजुबान बोलने से पहले
सीख जायेगा
मर्द तब बनेगा जब तू
औरतें दबाएगा
सोच ये रही तो जल्दी
देश डूब जायेगा

(मंटो)
मैं उस सोसाइटी की
चोली क्या उतारूंगा
जो पहले से ही नंगी है
उससे कपड़े पहनाना
मेरा काम नहीं है
मैं काली तख्ती पर
सफ़ेद चाक इस्तेमाल
करता हूँ
ताकि काली तख्ती
और नुमाया हो जाए
मंटो एक इंसान

(रफ़्तार)
मैं घंटों पढ़ा है
तुमको मंटो
तुम्हारे जैसा बनू
करे मेरा मन तो
इन बन्दों को
सच नहीं दीखता
70 साल आजादी के
सच आज भी नहीं बिकता

(मंटो)
अगर आप कहानी को
बर्दाश्त नहीं कर सकते
तो इसका मतलब ये है
की  इस ज़माना ही
ना-काबिल-ए बर्दाश्त है


Improve Us: If you find any mistake in this lyrics please comments. Thank You